Khulasa-news


इन पोषक तत्वों को आहार में शामिल करके रह सकते है लम्बे समय तक स्वस्थ

लाइफ स्टाइल 

खाने की चीज़े में कौन से ऐसे तत्व शामिल होते हैं, जो हमारे मस्तिष्क को तनाव से बचाए रखने में सहायक होते हैं। आइए जानते हैं, कुछ ऐसे ही पोषक तत्वों के बारे में, जो खाने के साथ-साथ हमें खुशी का एहसास दिलाते हैं।तथा जो हमारे अंदर सकारत्मक ऊर्जा का संचार करते है.

जि़ंक एक ऐसा आवश्यक माइक्रोन्यूट्रिएंट तत्व है, जिसका सेवन अच्छे स्वास्थ्य के लिए अतिआवश्यक है। इसके अलावा यह तनाव और डिप्रेशन दूर करने में भी मददगार होते है। कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि जि़ंक हमारे मस्तिष्क में एंटीडिप्रेसेंट दवाओं की तरह कार्य करता है। यह ब्रेन में मौज़ूद बीडीएनएफ (ब्रेन डिराइव्ड न्यूरोट्रॉफी फैक्टर) नामक प्रोटीन की मात्रा को संतुलित रखता है। यह प्रोटीन मनुष्य की सोचने कि शक्ति और याददाश्त बढ़ाने में सहायक सिद्ध होता है, परंतु इसकी अधिकता से डिप्रेशन जैसी समस्याओं की आशंका बढ़ जाती है। जि़ंक का फायदा यह भी है कि यह अच्छे स्वास्थ्य के लिए ज़रूरी है,परन्तु शरीर की आंतरिक संरचना में इसे स्टोर करने की कोई व्यवस्था मौज़ूद नहीं है। इसलिए यह और भी आवश्यक हो जाता है कि हम इसे रोज़ाना अपने खाने में शामिल करें। हमें अपने प्रतिदिन के भोजन से कम से कम 8 से 11 मिलीग्राम जि़ंंक मिलना चाहिए, जो आमतौर पर सामान्य डाइट से मिल जाता है।

सामान्य तौर पर लोगों को यही जानकारी है, कि  हड्डियों और मांसपेशियों की मज़बूती के लिए कैल्शियम का सेवन बहुत ज़रूरी है, परंतु हाल ही में हुए कई अध्ययनों से यह तथ्य सामने आया है कि यह केवल हमारे तन के लिए ही ज़रूरी नहीं है, बल्कि यह मन को खुश रखने में भी मददगार होता है। जो कि मानव शरीर के विकास के लिए सहायक होता है. कैल्शियम शरीर की मांसपेशियों और नसों को भी सुकून देता है। रक्त में मौज़ूद कैल्शियम कैलसिटोनिन नामक हॉर्मोन बनाता है, जो तनाव को कंट्रोल करने में सहायक होता है। इसके अलावा कैल्शियम युक्त चीज़ों में कुदरती तौर पर विटमिन-डी पाया जाता है, जो हमें तनाव से बचाता है। तथा बॉडी में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है जिससे कि पैदा होने वाली नई बीमारिया नष्ट हो जाती है. क्या खाए : दूध, दही और पनीर मिल्क प्रोडक्ट्स कैल्शियम के अच्छे स्रोत माने जाते हैं। इसके अलावा गोभी, केला, सोयाबीन, टोफू, अंजीर, संतरा, मछली, बींस और भिंडी में भी पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है। इसलिए प्रीतिदिन के खानपान में इन चीज़ों को प्रमुखता से शामिल करना चाहिए।

इस दिन समाप्त हो जाएगा एनएचएम स्वास्थ्य कर्मियों का अनुबंध

क्या होगा 'कोरोनिल' का ? बाबा रामदेव की दवा पर स्वास्थय मंत्री डॉ हर्षवर्धन का बड़ा बयानकोरोना मरीज के लिए बेस्ट है ये हेल्थ इंश्योरेंस

अलसी से होते हैं सेहत को चौकाने वाले फायदेअगर आप भी रोकते हैं पेशाब तो जरूर पढ़े यह खबर

 

Related posts