Khulasa-news


अगस्त तक किसानों को हो सौ फीसदी गन्ना मूल्य भुगतान- सीएम योगी

cmउत्तर प्रदेश खबरें राजनीति सभी 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें एक ऐसी निधि बनानी चाहिए, जिससे प्रति कुंतल गन्ना पर सेस लगा सकें. इसमें सरकार भी सहयोग करेगी. सेस से मिलने वाला धन हम गन्ना किसानों के कल्याण और सुविधाओं में खर्च करेंगे. इसी पैसे से गन्ना किसानों के लिए चीनी मिलों के बाहर विश्रामालय, शौचालय, पेयजल समेत अन्य सुविधाएं दे सकेंगे.

68,828 करोड़ रुपए का हुआ भुगतान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गन्ना मूल्य का भुगतान विगत दो वर्षों से अच्छा हुआ है. विगत दो वर्षों में 68,828 करोड़ रुपए का भुगतान हुआ है. इसमें और बेहतर करने की जरुरत है. मुख्यमंत्री ने सख्त निर्देश दिया कि गन्ना किसानों का अभी जो बकाया है उसे अलग-अलग किस्तों में अगस्त तक सारा भुगतान हो जाना चाहिए. जिससे किसानों को कोई परेशानी न हो.

गन्ने के जूस के कारोबार से जोड़ना चाहिए

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि स्थानीय नौजवानों को गन्ने के जूस के कारोबार से जोड़ना चाहिए. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जरिए ऋण मुहैया करवा कर नौजवानों को रोजगार के साधन देने का काम भी किया जा सकता है.

पांच साल की ली गांरटी

सीएम योगी ने आगे कहा कि बंद पड़ी चीनी मिल मझोला और रसड़ा सहकारी चीनी मिल को जल्द शुरू किया जाए. विभागीय अधिकारियों ने बताया है कि इन दोनों चीनी मिलों को प्रारंभ करने के लिए टेंडर लगाए गए हैं. उन्होंने कहा है कि गन्ना विकास सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की बजाए सड़कों को नए सिरे से बनाए. जिससे कई साल तक सड़क न टूटे. बनाने वाले से कम से कम पांच साल की गारंटी लें.

सीएम ने कहा है कि आने वाले समय में गन्ना किसानों और सरकार के लिए एथनॉल का उत्पादन फायदेमंद साबित होगा. अभी प्रदेश में 119 चीनी मिलें चल रही हैं. अगले वर्ष तीन चीनी मिलें और चल जाएंगी. जिससे उत्तर प्रदेश में 122 चीनी मिलें हो जाएंगी. मुख्यमंत्री ने बंद पड़ी गडौरा चीनी मिल के लिए रास्ता निकालने के निर्देश दिए हैं.

यूपी सीएम ने कहा कि किसानों को समय से पर्ची मिलनी चाहिए. इस पर ध्यान देना चाहिए. इस बार किसानों को कोई परेशानी न आएं. उन्होंने कहा कि गन्ने का सर्वे बेहतर होना चाहिए. जिससे हम गन्ना किसानों को समय से पर्ची मुहैया करवा सकें.

चीनी मिलों की क्षमता बढ़ाने के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश में जो भी चीनी मिलें 700 और 1200 टीडीसी क्षमता वाली हैं, उन सभी चीनी मिलों की क्षमता बढ़ाकर 5000 टीडीसी पर लाया जाए. अगले तीन साल में इसका अपग्रेडेशन होना चाहिए. धुरियापार चीनी मिल पर कार्य तेजी से करने के निर्देश दिए गए हैं.

समीक्षा बैठक में गन्ना विकास मंत्री सुरेश राणा, आबकारी मंत्री जयप्रताप सिंह, मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय, विभागीय प्रमुख सचिव संजय घोष रेड्डी और प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल भी मौजूद थे.

Facebook Comments

Related posts

2 Thoughts to “अगस्त तक किसानों को हो सौ फीसदी गन्ना मूल्य भुगतान- सीएम योगी”

  1. […] सीएम योगी ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और नगर विकास विभाग की समीक्षा बैठक में कहा कि सबसे ज्यादा शिकायतें जल निगम से ही मिल रही हैं. हमें व्यापक कार्य योजना बनाकर इसका विकल्प तलाशना चाहिए. सीएम ने कहा कि वाराणसी में पाइप पेयजल योजना के तहत अब तक एक हजार करोड़ रुपये खर्च किए जा चुके हैं. इसके बावजूद काशी में पानी की दिक्कत है. 2010 से 30 जून 2019 तक जो भी लोग इस योजना से जुड़े रहे हैं, सबकी जवाबदेही तय की जाए. दोषी पाए जाने वाले अधिकरियों को तुरंत काम से मुक्त करके उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए. […]

Comments are closed.