Khulasa-news


हथियार का लाइसेंस बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार  

gunउत्तर प्रदेश क्राइम खबरें सभी 

यूपी के गाजियाबाद में हथियार का फर्जी लाइसेंस बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. पुलिस ने दो आरोपियों के साथ फर्जी लाइसेंस बनवाने आए तीन लोगों को भी गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि 2.5 से 3 लाख तक लेकर हथियार का फर्जी लाइसेंस बनाया जाता था.

 

इससे पहले लोकसभा चुनाव से पहले गाजियाबाद में पुलिस ने हथियारों की बड़ी खेप पकड़ी. यह कारोबार एक झोपड़ी में चल रहा था. जहां अवैध हथियार बनाकर पास के इलाकों में बेचे जाते थे.

 

पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि चांदमारी के पास सड़क किनारे बनी एक झोपड़ी में अवैध हथियार बनाने का धंधा चल रहा है. इस सूचना पर एसएचओ विजयनगर श्यामवीर सिंह ने अपनी टीम को साथ झोपड़ी पर छापा मारा. पुलिस ने मौके ने दो लोगों को हथियार बनाते हुए पकड़ा, साथ ही बने हुए तमंचे, कारतूस, अधबने तमंचे तथा तमंचे बनाने के उपकरण बरामद किए.

 

पूछताछ में हथियार तस्करों ने बताया कि वे लोग तमंचे बनाकर एनसीआर में सप्लाई करते थे. आरोपियों के कब्जे से 315 बोर के 11 तमंचे, 12 बोर के 2 तमंचे, 38 बोर की एक रिवाल्वर, 6 पिस्टल की मैगजीन, 12 बोर के छह कारतूस, 315 बोर का एक कारतूस, तमंचे के 6 ढांचे, अधबनी नलियां और असलाह बनाने में काम आने वाले उपकरणों को बरामद किया गया.

Related posts