जोरों पर चंद्रयान की लॉन्चिंग 15 जुलाई को 60 दिनों की यात्रा

chandrayanखबरें दुनिया सभी 

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) अपने सबसे महत्वाकांक्षी मिशन के तहत चंद्रयान-2 का 9 जुलाई से 16 जुलाई के बीच लॉन्च करने की तैयारी जोरों से कर रहा है. वहीं इसरो के मौजूदा शेड्यूल के मुताबिक, स्पेसक्राफ्ट 19 जून को बेंगलुरु से रवाना होगा और 20 या 21 जून तक श्रीहरिकोटा के लॉन्चपैड पर पहुंचेगा.

बता दें कि आज चंद्रयान-2 के अभियान से जुड़ी खास तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की है. इन तस्वीरों में देखा जा सकता है कि वैज्ञानिक लॉन्चिंग की तैयारी में जुटे हैं.

छह सितंबर को चंद्रमा पर लैंडिंग की संभावना

इसरो के अध्यक्ष के. सिवन ने पिछले दिनों कहा था कि छह सितंबर को चंद्रमा पर लैंडिंग की संभावना है. उन्होंने कहा था, ‘‘एक खास स्थान पर लैंडिंग होने जा रही है, जहां पर इससे पहले कोई नहीं पहुंचा है. साथ ही उन्होंने कहा कि चंद्रमा की सतह पर रोवर की लैंडिंग पर एजेंसी छह सितंबर को नजर रखेगी.

अक्टूबर 2008 को लांच किया गया था चंद्रयान-1

इसरो के मुताबिक, चंद्रयान-2 दूसरा चंद्र अभियान है और इसमें तीन मॉडयूल हैं ऑर्बिटर, लैंडर (विक्रम) और रोवर प्रज्ञान. भारत ने चंद्रयान-1 को 22 अक्टूबर 2008 को लांच किया था, जिसके एक दशक बाद 800 करोड़ रुपये की लागत से चंद्रयान-2 को लांच करने जा रहा है.

अधिक जानकारी के लिए खुलासा न्यूज पर किल्क करें

Facebook Comments

Related posts