पूर्व बीएसपी नेता का दावा- चुनावों के नतीजे आने बाद मायावती भाजपा से गठजोड़ करेंगी

mayawatiउत्तर प्रदेश खबरें राजनीति सभी 

कांग्रेस नेता ने दावा किया है कि 23 मई को लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती को भारतीय जनता पार्टी के साथ हाथ मिलाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

नसीमुद्दीन सिद्दीकी, जो पिछले साल तक बीएसपी के सदस्य थे, ने कहा कि मायावती पर चुनाव के नतीजों पर दबाव डाला जाएगा। उनको पद का प्रलोभन भी दिया जा सकता है।

सिद्दीकी के मुताबिक, एक बार बसपा ने महागठबंधन को तहस-नहस कर दिया तो समाजवादी पार्टी को भी भाजपा के सत्ता से बाहर रहने के लिए कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

सिद्दीकी ने संवाददाताओं से कहा, “बसपा सुप्रीमो ने इतिहास में भी भाजपा के साथ हाथ मिलाया था और 23 मई के बाद उन पर ऐसा दबाव होगा कि वह भाजपा का हिस्सा बन जाएंगी।”

कांग्रेस नेता जो मायावती के खिलाफ बगावत कर पिछले साल बसपा सेकांग्रेस में चले गए थे, ने कहा, “राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है। मैंने उन्हें 33 सालों से जाना है। मैं उन्हें खुद से ज्यादा जानता हूं।”

मायावती सरकार में मंत्री रहे सिद्दीकी ने कहा कि मायावती के प्रधानमंत्री बनने की संभावनाएं बहुत कम हैं।

उन्होंने पूछा “यहां तक ​​कि गठबंधन सहयोगी समाजवादी पार्टी और आरएलडी ने भी इस पर कुछ नहीं कहा है। अखिलेश यादव ने केवल यह कहा है कि अगला प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश से होगा। फिर उनके प्रधानमंत्री बनने का सवाल ही कहां है?”

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव का आखिरी चरण 19 मई को होगा और 23 मई को नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे।

Facebook Comments

Related posts

One Thought to “पूर्व बीएसपी नेता का दावा- चुनावों के नतीजे आने बाद मायावती भाजपा से गठजोड़ करेंगी”

  1. […] का समर्थन करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने गुरुवार को आरोप लगाया कि लोकसभा […]

Comments are closed.