Khulasa-news


भारत पानी बचाने की तरफ बढ़ा चुका कदम: पीएम मोदी

MODI-minउत्तर प्रदेश खबरें राजनीति सभी 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार (9 सितंबर) को संयुक्त राष्ट्र के कॉन्फ्रेंस ऑफ द पार्टीज यानी कॉप के 14वें अधिवेशन को संबोधित किया। ये अधिवेशन यूपी के ग्रेटर नोएडा के इंडिया मार्ट एंड एक्सपो में आयोजित हो रहा है। इस दौरान जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता और बढ़ते रेगिस्तान पर चिंतन किया गया।

पीएम मोदी ने कॉप 14 कार्यक्रम में कहा है कि भारत के संस्कारों में धरती पवित्र है, हर सुबह जमीन पर पैर रखने से पहले हम धरती से माफी मांगते हैं। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में लोगों को क्लाइमेट चेंज के मसले पर नकारात्मक सोच का सामना करना पड़ रहा है। इसके कारण समुद्र का जल स्तर बढ़ रहा है, बारिश, बाढ़ और तूफान हर जगह इसका असर दिख रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत ने इस मसले पर तीन बड़े कार्यक्रमों का आयोजन किया है, इससे हमारी कोशिशों के बारे में दुनिया को पता लगा है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता और भूमि क्षरण के मसले पर दुनिया में कई कदम उठाने को तैयार है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया में पानी की समस्या काफी बढ गई है। दुनिया को आज पानी बचाने के मसले पर एक सेमिनार बुलाने की जरूरत है जहां पर इन मसलों का हल निकाला जा सके। भारत पानी बचाने, पानी का सही इस्तेमाल करने की तरफ कदम बढ़ा चुका है। उन्होंने कहा कि भारत ने ग्रीन कवर (पेड़ों की संख्या) को बढ़ाया, 2015-2017 के बीच भारत का जंगल का एरिया बढ़ा है।

इसे भी पढ़ें- पीएम मोदी को एक और पुरस्कार, अमेरिका में होंगे सम्मानित

उन्होंने कहा कि अभी हम और भी जंगल के हिस्से को बढ़ाने पर आगे बढ़ रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार किसानों की आय दोगुना करने की ओर बढ़ रही है, इसमें अलग-अलग तरीके से खेती सिखाई जा रही है। पानी की समस्या को लेकर हमने अलग मंत्रालय बनाया है, ताकि सभी का हल हो सके। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को रोकने की ओर बढ़ चुका है।

अधिक जानकारी के लिए खुलासा राजनीति पर करें क्लिक

Related posts

One Thought to “भारत पानी बचाने की तरफ बढ़ा चुका कदम: पीएम मोदी”

Comments are closed.