Khulasa-news


आज ही के दिन आठ साल पहले दहली थी मुंबई

mumbai-minखबरें राष्ट्रीय सभी 

आज से आठ साल पहले भी आतंकवादियों ने एक के बाद एक तीन धमाके कर मुंबई को दहला दिया था। उन तीन धमाकों में 19 लोगों की मौत हो गई थी जबकि करीब 150 लोग घायल हो गए थे।

हमेशा की तरह उस दिन भी मुंबई दौड़ रही थी। सड़कों पर भीड़ थी। हर तरफ गाड़ियों का शोर था। लोग शाम के समय अपने घरों को लौट रहे थे। किसी को इस बात का अंदाजा भी नहीं था कि कुछ ही पलों में ये सपनों का शहर खौफ की जद में आ जाएगा। मगर साजिश कुछ ऐसी ही थी कि जैसे ही शाम के वक्त घड़ी सुई 6 बजकर 54 मिनट पहुंची। मुंबई के एक इलाके में पहला धमाका हुआ, वो इलाका था दक्षिणी मुंबई का झवेरी बाजार। बम एक मारुति एस्टीम कार में लगाया गया था।

ओपेरा हाउस के पास जोरदार धमाका

अभी लोग वहां संभले भी नहीं थे। कुछ समझे भी नहीं थे कि मुंबई के ओपेरा हाउस के पास, चर्नी रोड पर 6 बजकर 55 मिनट पर एक जोरदार धमाका हुआ। उस समय बारिश का मौसम था, लिहाजा बम एक छतरी में लगाया गया था। इन दोनों धमाकों से शहर में हड़कंप मच गया। अफरा तफरी का माहौल था।

लोग समझने की कोशिश कर रहे थे कि आखिर ये हुआ क्या है। तभी 7 बजकर 5 मिनट पर दादर क्षेत्र में बस स्टैंड के बिजली पोल पर लटकाए गए बम में विस्फोट हुआ. हर तरफ धूल और धुएं का गुबार था। तीनों जगहों पर मुर्दा जिस्मों के टुकड़े पड़े थे। किसी के हाथ कहीं थे, तो किसी पांव। कोई घायल दर्द कराह रहा था, तो कोई तड़प रहा था।

तीनों धमाकों में 19 लोगों की जान गई

तीनों जगहों पर खौफनाक मंजर था। इन तीनों धमाकों में 19 लोगों की जान चली गई थी और 150 से अधिक लोग घायल हो गए थे। सभी घायलों को नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया था। अधिकांश घायलों को मुंबई जेजे अस्पताल, सेंट जॉर्ज अस्पताल, हरिकिसानदास अस्पताल और जीटी अस्पताल ले जाया गया था।

इन तीन सीरियल धमाकों के बाद मुंबई में कुछ घंटों के लिए फोन लाइन और संचार माध्यम ठप्प हो गए थे। दिल्ली, चेन्नई, हैदराबाद और बेंगलुरु जैसे अन्य महानगरों में भी हाई अलर्ट जारी किया गया था। धमाकों के तुरंत बाद मुंबई पुलिस ने एक एसएमएस लोगों को भेजा था जिसमें लोगों से सावधान रहने और घर के अंदर रहने की अपील की गई थी।

अधिक जानकारी के लिए खुलासा न्यूज पर करें क्लिक

Facebook Comments

Related posts