गाड़ियों पर पत्थर मार लूट को देते थे अंजाम, गिरफ्त में एक्सप्रेस-वे के लुटेरे

बदमाशक्राइम खबरें सभी 

नोएडा पुलिस ने चार हाईवे लुटेरों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक, ये लोग हाईवे पर चल रही गाड़ियों पर पहले पत्थर मारते थे. फिर गाड़ी अगर रुक जाती थी तो उसे लूट लिया करते थे. पुलिस के मुताबिक इस गैंग ने अब तक नए बने ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर 60 से ज्यादा वारदातों को अंजाम दिया है. इस गैंग में करीब 12 बदमाश हैं. पुलिस इनके फरार साथियों की तलाश में जुटी है.

नोएडा पुलिस का कहना है कि पिछले कुछ समय से उन्हें पेरिफेरल एक्सप्रेसवे पर लूट की वारदात की शिकायतें मिल रही थीं और शिकायतों में से ज्यादातर का कहना था कि पहले उनकी चलती गाड़ी पर पत्थर आकर लगा, जिसे देखने के लिए जैसे ही वे कार रोकते थे उन्हें बदमाशों का झुंड घेर लेता था. इसके बाद वो उनके सारे कीमती सामान लूट कर चला जाता था.

पुलिस ने कई बदमाश पकड़े

इस गिरोह को दबोचने के लिए नोएडा पुलिस ने एक टीम बनाई. टीम ने पीड़ितों से बात की और जिस इलाके में ज्यादातर वारदात को अंजाम दिया जाता था वहां पुलिस ने मुखबिरों से बात की, फिर पुलिस ने सचिन, बादल और करण को गिरफ्तार किया. इसके बाद सचिन नाम का एक और बदमाश पकड़ा गया. पुलिस ने इनके पास से लूट के 18 मोबाइल फोन जब्त किए हैं. इसके अलावा बदमाशों के पास से करीब 30 हजार कैश और एक देसी तमंचा भी बरामद हुआ है.

60 वारदात को दे चुके हैं अंजाम

वही पुलिस ने कहा कि इस गैंग का मास्टर माइंट करण कर रहा था. वही अपने एक साथी सचिन के साथ मिलकर गैंग के गैंग चलाता हैं. ये लोग अलग-अलग ग्रुप में बंटे होते थे और बड़े-बड़े पत्थर एक्सप्रेसवे पर चल रही गाड़ियों पर मारते थे. इनके गैंग के कुछ बदमाश पहले खड़े रहते, जो जा रही.  गाड़ियों की जानकारी आगे वाले बदमाशों को बताते जिसके बाद वो गाड़ियों पर पत्थर मारते थे. पुलिस का कहना है कि अब तक पूछताछ में गैंग ने करीब 60 वारदात को अंजाम देने की बात मान ली है.

Facebook Comments

Related posts