Khulasa-news


लोकसभा से नागरिकता संशोधन बिल पास, राज्यसभा में आज होगा पेश

नागरिकता संशोधन बिल सोमवार रात लोकसभा में पास हो गया है। रात 12.04 बजे हुई वोटिंग में बिल के पक्ष में 311 और विपक्ष में 80 वोट पड़े। बता दें कि इस पर करीब 14 घंटे तक बहस हुई। विपक्षी दलों ने बिल को धर्म के आधार पर भेदभाव करने वाला बताया है।

गृह मंत्री अमित शाह ने जवाब में कहा है कि यह बिल यातनाओं से मुक्ति का दस्तावेज है और भारतीय मुस्लिमों का इससे कोई लेना-देना नहीं है। अमित शाह ने कहा है कि यह बिल केवल 3 देशों से प्रताड़ित होकर भारत आए अल्पसंख्यकों के लिए है और इन देशों में मुस्लिम अल्पसंख्यक नहीं हैं, क्योंकि वहां का राष्ट्रीय धर्म ही इस्लाम है। विधेयक आज राज्यसभा में पेश होगा।

कांग्रेस समेत 11 विपक्षी दलों ने बिल को धार्मिक आधार पर भेदभाव करने वाला बताया। एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने बिल की कॉपी भी फाड़ दी। हालांकि, इसे सदन की कार्यवाही से बाहर निकाल दिया गया।

अमित शाह ने कहा है कि शरणार्थियों और घुसपैठियों के बीच अंतर को स्पष्ट करना जरूरी है। अपने धर्म, बहू-बेटियों की रक्षा के लिए भारत में शरण मांगने वाला शरणार्थी है, घुसपैठिया नहीं। गैरकानूनी तरीके से देश में घुसने वाला घुसपैठिया है। हम एनआरसी भी लाएंगे, देश में एक भी घुसपैठिया नहीं बचेगा। वोटबैंक की राजनीति करने वालों के मंसूबे हम कभी कामयाब नहीं होने देंगे।

आपको बता दें कि बिल पास होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमित शाह की तारीफ की और कहा कि सभी सवालों के जवाब विस्तार से दिए और बिल के सभी पहलुओं को सदन के सामने रखा।

अधिक जानकारी के लिए खुलासा न्यूज पर करें क्लिक

Related posts