Khulasa-news


जब गाय के नाम के पर लोग मारे जाते हैं, तब पीएम के कान खड़े होने चाहिए: ओवैसी

owaisiखबरें राजनीति सभी 

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने पीएम के गाय को लेकर दिए गए बयान पर जवाब दिया है. ओवैसी ने कहा कि जब गाय के नाम पर लोग मारे जाते हैं, तब पीएम के कान खड़े होने चाहिए. जब संविधान की धज्जियां उड़ाई जाती हैं, तब पीएम के कान खड़े होने चाहिए. दरअसल, मथुरा में पीएम मोदी ने बुधवार को कहा कि देश में कुछ लोग ऐसे हैं जो गाय का नाम सुनते हैं तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं.

 

बता दें कि पीएम मथुरा मे कहा, हमारे देश में कुछ लोगों के कान पर अगर ॐ या गाय शब्द पड़ता है तो उनके बाल खड़े हो जाते हैं. पीएम मोदी ने कहा कि ऐसा कहने वालों ने देश को बर्बाद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. हमारे देश में पशुधन काफी बड़ी बात है, इसके बिना अर्थव्यवस्था, गांव कुछ नहीं चल सकता है.

सरकार ने भारत के संविधान की धज्जियां उड़ा दी

बता दें कि इससे पहले ओवैसी ने आरोप लगाया था कि प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी की सरकार जम्मू में विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन के जरिए बीजेपी का मुख्यमंत्री बनाकर कश्मीर की जनसांख्यिकीय को बदलने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को संसद में अपने बहुमत के बल पर रद्द कर सरकार ने भारत के संविधान की धज्जियां उड़ा दी हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में जवाहरलाल नेहरू और सरदार पटेल की तरह राजनीतिक ज्ञान नहीं होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार जनसंघ के एजेंडे को लागू करने की कोशिश कर रही है.

Related posts