Khulasa-news


जावेद अख्तर के जन्मदिन पर जानिए कुछ अनसुने किस्से

javed akhtar-minएंटरटेनमेंट खबरें सभी 

एक गीतकार के रूप में जावेद अख्तर किसी परिचय के मोहताज नहीं। ‘तुमको देखा तो ये खयाल आया’ हो या फिर ‘प्यार मुझसे जो किया तुमने तो क्या पाओगी’ जावेद अख्तर के हर एक लफ्ज में वह जादू है जो सीधा लोगों के दिलों में उतरता है।

पुरानी पीढ़ी ही नहीं आज के युवा भी जिसे मौसिकी में दिलचस्पी है वह जावेद अख्तर को पसंद करते हैं, लेकिन आज जावेद अख्तर के जन्मदिन के मौके पर हम उस किस्से को बताने जा रहे हैं, जब जावेद अख्तर के गीतों का जादू नहीं बल्कि जावेद पर किसी का जादू चला था।

बता दें कि जावेद अख्तर की पहली शादी उनसे दस साल छोटी हनी से हुई थी। उनके दो बच्चे जोया और फरहान अख्तर हैं, लेकिन वाकया साल 1970 का है जब जावेद, कैफी आजमी के यहां गीत संगीत सीखने जाते थे। इस दौरान दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ी। धीरे-धीरे इसकी खबर जावेद की पत्नी हनी को हुई, जिसके बाद दोनों के बीच झगड़े होने लगे। फिर जावेद ने हनी से तलाक लेने का फैसला किया।

साल 1978 में दोनों ने अलग होने का फैसला किया लेकिन इसके बारे में बच्चों को नहीं बताया, हालांकि हनी और जावेद का डिवोर्स नहीं हुआ था ऐसे में शबाना से शादी में परेशानी आ रही थी, लेकिन साल 1984 में हनी और जावेद का तलाक हो गया। हालांकि एक ओर जहां जावेद अख्तर शादी के लिए तैयार थे तो वहीं शबाना आजमी के पिता कैफी आजमी इस रिश्ते को लेकर तैयार नहीं थे, लेकिन बाद में कैफी आजमी ने शबाना आजमी को जावेद अख्तर के साथ शादी करने की इजाजत दी।

अधिक जानकारी के लिए खुलासा न्यूज पर करें क्लिक

Related posts